Wife oppose non veg, SN Medical College, alumni doctor commits suicide

आगरा के एसएन से एमडी कर चुके डॉक्टर को पत्नी ने नॉनवेज खाने से रोका, उन्होंने सुसाइड कर लिया

आगरालीक्स… आगरा के एसएन से एमडी कर चुके डॉक्टर को पत्नी ने नॉनवेज खाने से रोका, उन्होंने सुसाइड कर लिया, डॉक्टर एसएन में नौकरी कर चुके हैं और वे कुछ साल से लखनऊ के गोमतीनगर के विपुलखंड पांच में अपनी ससुराल में रह रहे थे।
आगरा के एसएन मेडिकल कॉलेज से एमबीबीए के बाद एमडी कर चुके डॉ उमाशंकर गुप्ता (40) चर्म रोग विभाग में लेक्चरर थे, उनकी शादी लखनऊ निवासी दीप्ति अग्रवाल से हुई थी, वे वाणिज्य कर विभाग, लखनऊ में सहायक आयुक्त हैं। शादी के दो साल बाद परिवार में दरार पडने लगी, दीप्ति उन्हें छोडकर अपने मायके में लखनऊ आ गईं, इसके बाद डॉ उमाशंकर गुप्ता एसएन की नौकरी छोडकर लखनऊ आकर ससुराल में रहने लगे। कठौता लखनऊ में उनका स्किन चाइल्ड केयर नाम से अस्पताल है।
नॉनवेज खाने से रोकने पर की सुसाइड
मीडिया रिपोर्ट के अनुसार,
बुधवार रात करीब साढ़े नौ बजे डॉ उमाकांत गुपता क्लीनिक से घर आते समय नॉनवेज फूड पैक कराकर लाए थे। उन्होंने बेटी के साथ नॉनवेज खाया। दीप्ति को इसका पता चला तो वह नाराज हो गईं। दोनों के बीच झगड़ा हुआ। डॉक्टर गुस्से में अपने कमरे में चले गए। रात करीब 11 बजे तक वह कमरे से नहीं निकले तो दीप्ति उन्हें बुलाने गई। दरवाजा भीतर से बंद था। धक्का देकर दरवाजा खोला गया तो भीतर नॉयलान की रस्सी से पंखे से डॉक्टर का शव लटकता देख होश उड़ गए।
इंस्पेक्टर के अनुसार रात करीब 12 बजे आरके अग्रवाल ने पुलिस कंट्रोलरूम को फोन कर खुदकुशी की सूचना दी। कमरे से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। दीप्ति ने पुलिस को दिए बयान में नॉनवेज खाने से टोकने पर झगड़ा होने और डॉक्टर के खुदकुशी करने की बात कही है। परिवारीजनों का कहना है कि उमाशंकर नॉनवेज के शौकीन थे, जबकि दीप्ति को नॉनवेज पसंद नहीं था। डॉ. उमाशंकर गुप्ता पांच बहनों के इकलौते भाई थे।