Police & BJP leader clash in Agra, FIR lodged against 4 police person, 2 suspend

.आगरा में पुलिस और भाजपा नेता एक दूसरे का वीडियो बनाकर खुद को निर्दोष साबित करने में जुटे रहे। पुलिस ने भाजपा नेता को को हवालात में डाल दिया, मामला गर्माने के बाद पुलिस कर्मियों पर लूट का मुकदमा दर्ज किया गया है।

आगरालीक्स ….आगरा में पुलिस और भाजपा नेता एक दूसरे का वीडियो बनाकर खुद को निर्दोष साबित करने में जुटे रहे। पुलिस ने भाजपा नेता को को हवालात में डाल दिया, मामला गर्माने के बाद पुलिस कर्मियों पर लूट का मुकदमा दर्ज किया गया है।
सोमवार रात 11 बजे सिकंदरा के पश्चिम पुरी निवासी और भाजपा बिचपुरी के मंडल महामंत्री इंद्रपाल सिंह उर्फ बब्बू चौधरी अपने मित्र सुधीर पौनिया के साथ बोदला-सिकंदरा रोड पर स्थित हेमा पेट्रोल पंप के पास से जा रहे थे।
आरोप है कि रास्ते में उन्हें चार सिपाही एक राहगीर से मारपीट कर उसकी जेब से रुपये निकालते दिखे। उन्होंने सिपाहियों को मारपीट करने से रोका, तो वे गाली-गलौज करने लगे। इस दौरान सुधीर ने मोबाइल से वीडियो बनाना शुरू किया, तो सिपाहियों ने उससे मोबाइल छीनकर मारपीट कर दी। उनका आरोप है कि सिपाहियों ने जबरन उन्हें शराब पिला दी और जेब से तीन हजार रुपये निकाल लिए। सुधीर की जेब से भी उन्होंने दो हजार रुपये जबरदस्ती निकाले। दोनों को मारपीट करते हुए थाने ले गए। मेडिकल कराने के बाद थाने में उनके साथ फिर मारपीट की गई। इनमें से दो के नाम नेमप्लेट पर बलवीर और जसवीर लिखे थे। सुबह जानकारी होने पर भाजपा जिलाध्यक्ष श्याम भदौरिया, महानगर अध्यक्ष विजय शिवहरे समेत अन्य भाजपा नेता थाने पहुंच गए। उन्होंने अधिकारियों से सिपाहियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। इसके बाद बब्बू चौधरी की तहरीर पर चार सिपाहियों के खिलाफ लूट, मारपीट, गालीगलौज और धमकी देने की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया। एसएसपी दिनेश चंद्र दूबे ने बताया कि भाजपा नेता की तहरीर के मुताबिक मुकदमा दर्ज कर लिया है। इसकी विवेचना जल्द ही पूरी करने के निर्देश दिए हैं। सिपाही बलवीर और जसवीर को निलंबित कर मामले की जांच सीओ लोहामंडी को दी गई है।

पुलिस कर्मियों ने लगाए आरोप
सिपाही बलवीर सिंह और जसवीर ने भाजपा नेता बब्बू चौधरी और सुधीर पर धमकाने और गालीगलौज का आरोप लगाया। जसवीर का कहना है कि उनकी चीता मोबाइल पर ड्यूटी थी। रात को एक बजे सुनसान सड़क पर पैदल जाते युवक को उन्होंने रोककर पूछा कि वह कहां से आ रहा है? इस दौरान वहां नशे में धुत बब्बू चौधरी पहुंच गए। उन्होंने खुद को भाजपा नेता बताते हुए दोनों सिपाहियों को बर्खास्त कराने की धमकी दी। मोबाइल से वीडियो बनाने पर वे शांत हुए। इसके बाद उनका मेडिकल कराया गया, जिसमें अल्कोहल की पुष्टि हुई। तब उन्हें थाने में बैठा दिया गया। उन्होंने लूट और मारपीट के आरोपों को गलत बताया है।

वीडियो के लिए क्लिक करें

भाजपा नेताओं को थाने से छुडाया
सुबह भाजपा नेताओं ने जगदीशपुरा थाने पर हंगामा किया, वे बब्बू चौधरी और उसके साथी को थाने से छुडा कर ले गए। इसे लेकर थाने पर जमकर हंगामा किया। भाजपा कार्यकर्ताओं का कहना है कि बब्बू चौधरी निर्दोष है, पुलिस ने अपना असली चेहरा छुपाने के लिए उन्हें निशाना बनाया है। मीडिया से एसपी सिटी कुंवर अनुपम सिंह का कहना है कि देर रात्रि को गश्त के दौरान दो युवक नशे की हालात में मिले थे, जिससे पुलिस ने उन्हें पूछताछ करीं थी, और उनकी पुलिस के द्वारा वीडियो भी बनाई गई है। वहीं मेडिकल मे शराब की पुष्टि भी हो गई।

fir police