Pcpndt team raid max diagnostic centre Agra, 2 arrest

आगरा के डायग्नोस्टिक सेंटर पर छापा,

आगरालीक्स… आगरा के डायग्नोस्टिक सेंटर पर छापा, लिंग परीक्षण करते महिला सहित दो दबोचे, आगे क्या हुआ, जानकार आपके होश उड जाएंगे।
राजस्थान पीसीपीएनडीटी टीम को मैक्स डायनोस्टिग एंड पैथोलाजी, बोदला रोड पर लिंग परीक्षण करने की सूचना मिल रही थी, दलाल के माध्यम से टीम ने जाल बिछाया और एक गर्भवती को लिंग परीक्षण के लिए शुक्रवार को सेंटर पर भेज दिया। लिंग परीक्षण के लिए वहां 20 हजार रुपये लिए गए, इसके बाद गर्भवती का लिटा दिया, फीटल डॉप्लर शरीर पर लगाने के कुछ देर बाद बता दिया कि लडका है, इसी बीच टीम पहुंच गई और मैक्स डायग्नोस्टिक एंड पैथोलॉजी के संचालक अजय उपाध्याय और प्रीति कुलश्रेष्ठ को अरेस्ट कर लिया।
कंप्यूटर का मॉनीटर रखकर कर रहे थे लिंग परीक्षण
पीसीपीएनडीटी टीम ने लिंग परीक्षण करने के लिए इस्तेमाल की गई अल्ट्रासाउंड मशीन देखी तो वहां कोई मशीन नहीं थी, सेंटर में दो फीटल डॉप्लर रखे हुए थे, ये गर्भ में शिशु की धडकन सुनने के लिए इस्तेमाल किए जाते हैं। इसे देखकर टीम के सदस्य चौंक गए, वहां कंप्यूटर का एक मॉनीटर रखा हुआ था, वह बंद था और ​तौलिया पडी हुई थी। टीम को पूछताछ में बताया कि अल्ट्रासाउंड मशीन सेंटर में नहीं लगी थी, तुक्के से ही लडका और लडकी बता रहे थे, एक गर्भवती को लडका तो दूसरे को लडकी बताते थे।
इंटरपास चला रहा रैकेट
pcpndt team 2
पूछताछ में अजय उपाध्याय पुत्र श्री बसंतलाल निवासी आवास विकास कॉलोनी, सिकन्दरा रोड, ?
ने बताया कि वह इंटरपास है और कुछ समय पहले ही सेंटर खोला था। टीम ने प्रीति पुत्री श्री शशि कुलश्रेष्ठ निवासी अवधपुरी बोदला, पुष्पांजलि फेज3, आगरा को गिरफ्तार किया है वह अल्ट्रासाउंड के समय सेंटर पर मौजूद रहती थी।
अध्यक्ष राज्य समुचित प्राधिकारी पीसीपीएनडीटी एवं मिशन निदेशक एनएचएम नवीन जैन के निर्देशन में राज्य पीसीपीएनडीटी ने उत्तरप्रदेश के आगरा में 10वें इंटरस्टेट डिकाय आपरेशन के साथ ही अब तक का 100वां डिकाय आपरेशन कर लिया है।
14 जुलाई को आईएमए की पूर्व अध्यक्ष को अरेस्ट किया
14 जुलाई 2017 को राजस्थान पीसीपीएनडीटी की टीम ने छापा मारा था, आगरा के सदर में स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ निर्मल चोपडा (68 एमडी गायनी)का चोपडा सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल है। राजस्थान की पीसीपीएनडीटी टीम को हॉस्पिटल में लिंग परीक्षण करने की सूचना मिली थी, शुक्रवार को टीम ने जाल बिछाया। डमी गर्भवती महिला को साथ लेकर टीम ने अछनेरा निवासी दलाल नेत्रपाल 25 से संपर्क किया, उससे 30 हजार रुपये में गर्भ में लडका लडकी बताने के लिए सौदा हुआ। पीसीपीएनडीटी की टीम डमी गर्भवती को लेकर अछनेरा पहुंची, दलाल उसे अपने साथ लेकर जिला अस्पताल आ गया, यहां से मेहर टॉकीज पहुंचा। यहां उन्हें हॉस्पिटल की रिसेप्शनिस्ट तनीषा शर्मा अपने साथ ले गई थी।

लिंग परीक्षण में पकडे गए डॉक्टर
डा. विद्या गुप्ता अपने ट्रांस यमुना कॉलोनी स्थित हास्पिटल में पकड़ी गई।
डा. निर्मला चौपड़ा सदर स्थित अपने हास्पिटल में एजेंट के साथ पकड़ी।
डा. रेनू भार्गव को रुनकता स्थित अपने हास्पिटल में टीम को पकड़ा।
डा. अमित गुप्ता नालबंद स्थित अपनी क्लीनिक से पकड़े गए।

लिंग परीक्षण में पकडे गए झोलाछाप
चमक लाल ट्रांस यमुना कॉलोनी में अल्ट्रासाउंड मशीन समेत पकड़ा।
सलीमउद्दीन फतेहाबाद स्थित अपने अवैध हास्पिटल से पकड़ा।
रुखसार टेढ़ी बगिया स्थित अपने घर से अल्ट्रासाउंड मशीन पकड़ी।
बाह में अवैध एसआर हास्पिटल से अल्ट्रासाउंड मशीन पकड़ी गई।