Delhi multi crore Racket spread to Agra region

आगरालीक्स …दिल्ली में पांच हजार लड़कियों को देह व्यापार में धकेलने वाले आफाक और सायरा का नेटवर्क आगरा रीजन में फैला हुआ है, यहां पुलिस ने एक अपार्टमेंट में दबिश देकर संदिग्ध अवस्था में दो महिलाओं और तीन पुरुषों को हिरासत में लिया है। उनसे पूछताछ की जा रही है।
आफाक का नेटवर्क दिल्ली, लखनऊ, कानपुर, आगरा और अलीगढ़ मंडल तक बताया जा रहा है। दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा को पूछताछ में जो जानकारी मिली है उसके बाद सभी जिलों में रैकेट से जुड़े लोगों की तलाश की जा रही है। मंगलवार देर रात दिल्ली पुलिस ने वृंदावन के पॉश इलाके चैतन्य विहार कालोनी के एक अपार्टमेंट में दबिश देकर संदिग्ध अवस्था में दो महिलाओं और तीन पुरुषों को हिरासत में लिया है। वृंदावन पुलिस इस मामले की जानकारी से इन्कार कर रही है।
मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, स्थानीय लोगों का कहना है कि मंगलवार दोपहर तीन बजे काले रंग की स्कार्पियो सवार लोगों ने चैतन्य विहार कालोनी स्थित पापड़ी चौराहे पर लोगों से एक अपार्टमेंट के बारे में जानकारी ली। देर रात लगभग 11 बजे बोलेरो गाड़ी से उतरे लोगों ने अपार्टमेंट के चौकीदार से फ्लैट के बारे में जानकारी ली और फ्लैट पर पहुंच गए। बताया गया है कि इन लोगों ने फ्लैट से दो महिलाओं के साथ ही तीन पुरुषों को पकड़ लिया। पुरुषों को हथकड़ी लगाकर और महिलाओं को भी गाड़ियों में डालकर ले गए। सुबह तक यह मामला क्षेत्र में चर्चा का विषय बना रहा।
चौकीदार के अनुसार मंगलवार देर रात पकड़ी एक महिला बुधवार शाम को अपार्टमेंट में देखी गई। यहां से वह अपनी स्कूटी लेकर चली गई, जो देर शाम तक नहीं लौटी। वृंदावन कोतवाली प्रभारी ने दिल्ली पुलिस की इस कार्रवाई से अनभिज्ञता जताई।
वृंदावन के चैतन्य विहार कालोनी में स्थित इसी अपार्टमेंट के एक अन्य फ्लैट से नोएडा निवासी एक युवती को पुलिस ने दो लोगाें के साथ पकड़ा था। इसके बाद इस युवती को छोड़ दिया गया था। गौरतलब है कि 85 फ्लैट के इस अपार्टमेंट में 24 फ्लैट में ही लोग निवास कर रहे हैं। अधिकांश फ्लैट खाली हैं, जिनमें कभी कभी ही लोगाें को आते जाते देखा गया है।
सभी जिलों से मांगी गई गुम लड़कियों की जानकारी
देह व्यापार के इस काले कारोबार का खुलासा होने के बाद सभी जिलों से गुम लड़कियों के बारे में जानकारी मांगी जा रही है। आशंका व्यक्त की जा रही है कि कहीं यह लड़कियां या महिलाएं भी इस गिरोह या ऐसे किसी दूसरे गिरोह के जाल में तो नहीं फंस गई हैं। इनकी तलाश नए सिरे से की जाएगी। बाकायदा फोटो अलबम लेकर पुलिस निकलेगी।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.