CREDAI workshop on GST in Agra

. एक जुलाई से लागू होने जा रहे जीएसटी के लिए आगरा में कार्यशाला हो रही है।

आगरालीक्स…. एक जुलाई से लागू होने जा रहे जीएसटी के लिए आगरा में कार्यशाला हो रही है। आगरा के बिल्डरों के संगठन क्रेडाई द्वारा होटल पीएल पैलेस में बुधवार को जीएसटी पर कार्यशाला आयोजित की गई।
सीए दीपेन्द्र मोहन ने बताया कि जीएसटी लागू होने के बाद अनरजिस्टर्ड लोगों से काम लेना लगभग बंद हो जाएगा। समस्या उन लोगों के लिए होगी जो लोग रजिस्टर्ड नहीं हैं। क्योंकि जीएसटी आने के बाद काम कराने के लिए रजिस्टर्ड लोगों को ही प्राथमिकता दी जाएगी। अब कंजम्शन बेस टैक्स होगा, न कि मैन्यूफैक्टरर बेस। यानि एक सिंगल टैक्स होगा। दस साल में धरातल पर आए इस टैक्स का व्यापारियों को भविष्य में लाभ ही मिलेगा। सीए प्रेम गुल ने बताया कि 150 देशों में जीएसटी लागू है। वहां की तरह भारत में ही यह सरकार व व्यापारियों दोनों की दृष्टि से फायदेमंद ही होगा। सरकार का खजाना बढ़ेगा और व्यापारियों का लाभ भी बढ़ेगा। सीए गौरव बंसल ने जीएसटी पर बिल्डरों से सम्बंधिक तकनीकि जानकारियां दीं। अतिथियों का स्वागत क्रेडाई अध्यक्ष भगत सिंह बघेल व अध्यक्षता बीके गर्ग ने की। संचालन सचिव उमेश शर्मा ने किया। इस अवसर पर कमल चौधरी, शोभिक गोयल (उपाध्यक्ष यूपी क्रेडाई), अंकुर जैन, रवि शंकर अग्रवाल, छोटेलाल बंसल, संजय अग्रवाल, विकास फौजदार, केके गौतम, पीएल शर्मा, शलभ शर्मा, अखिलेश गौर, रामेश्वर चंद मित्तल, गोविन्द प्रसाद मित्तल, अमित शुक्ला, नीतेश गर्ग, संतोष कटारा, सीए मीतेश यादव, सीए अक्षित गर्ग, विजय ठाकुर, अनुराग अग्रवाल, दीपक दयाल, विजय ठाकुर, रमेश मित्तल, दीपक गुप्ता, दिनेश राठौर, माधव शर्मा, गौरव सिंह आदि उपस्थित थे।
ये होंगे लाभ
1-एक ही काम पर कई टैक्स (कई विभागों को) देने के बजाए एक ही टैक्स देना होगा।
2-यानि टैक्स अदा करने के लिए व्यापारी को एक ही विभाग से डील करनी होगी।
3-व्यापारी को जीएसटी आने के बाद उन टैक्सों का भी लाभ मिल सकेगा जो अभी तक उसे नहीं मिल पाते थे। जैसे सीएसटी।
4-प्रोफिट के साथ व्यापार बढ़ेगा।