Ajay Deep singh takes charge as Aligarh Commissioner

एक कमिश्नर की क्या प्राथमिकता होती है, सही निर्णय लेने में राजनैतिक हस्तक्षेप को किस तरह लेते हैं, इन सवालों पर अलीगढ के नवायुक्त कमिश्नर अजय दीप सिंह ने बेबाकी से जवाब दिए

अलीगढलीक्स– एक कमिश्नर की क्या प्राथमिकता होती है, सही निर्णय लेने में राजनैतिक हस्तक्षेप को किस तरह लेते हैं, इन सवालों पर अलीगढ के नवायुक्त कमिश्नर अजय दीप सिंह ने बेबाकी से जवाब दिए। आउटपुट एडिटर चमन शर्मा के साथ अलीगढ के क​मिश्नर अजय दीप सिंह की वन टू वन
चमन शर्मा – बहराइच में डीएम के पद पर रहते हुए आपने अपना मोबाइल आम लोगों के लिए सार्वजनिक किया था, आप यहां कमिश्नर हैं, कई जिले देखेंगे, क्या यहां भी आप वही प्रयोग करेंगे
कमिश्नर अजय दीप सिंह – देखिए वह चुनाव का समय था और भारत निर्वाचन आयोग द्वारा तैनाती की गई थी गहमागहमी का माहौल था, इसलिए आप जो कह रहे हैं वह सही बात होगी। यह मेरी आदम में है, आम लोगों से जितना अधिक हो सके इंटरेक्ट किया जाए।
चमन शर्मा – कई बार राजनैतिक दबाव से निर्णय बदलने पडते हैं, इस पर आप क्या कहना चाहेंगे
कमिश्नर अजय दीप सिंह – अधिकारियों को उदाहरण पेश करना चाहिए, जिससे अधीनस्थ अधिकारी अनुसरण कर सकें। जन प्रतिनिधियों का एक प्रोटोकॉल है, उसका पालन होना चाहिए, उनका सम्मान होना चाहिए। जहां तक राजनैतिक दबाव का सवाल है, ऐसा कभी महसूस नहीं किया। उनकी बात को सम्मान के साथ सुने।
चमन शर्मा -आप अलीगढ मंडल में क्या करना चाहेंगे और प्राथमिकता क्या रहेंगी
कमिश्नर अजय दीप सिंह – जनता से संवाद, यह यहां भी करना चाहेंगे। सरकारी योजनाओं का आम लोगों को लाभ मिले, इन योजनाओं में किए जा रहे कार्य गुणवत्ता परक हों, यह मुख्य उददेश्य रहेगा। अधीनस्थ अधिकारियों की समस्याओं का समाधान किया जाएगा।
चमन शर्मा -आईएएस बनने के बाद का लक्ष्य जो अभी पूरा करना है
कमिश्नर अजय दीप सिंह – आम लोग राहत महसूस करें, यही काम करना है, यही सीएम योगी आदित्यनाथ से लेकर शासन की मंशा है कि योजनाओं का लाभ आम लोगों को मिले।